कसमकश


हर पल एक क़सक
तेरे पलकों की छाँव में
जीवन का नवरंग
छुपा दू सतरंगी सपने मेरे
जो देखे थे साथ तेरे।

कसमकश
जिन्दा रहने की
हौसला
लड़ने का ज़माने से
हो रहा दरबदर
वक्त के संग।

मांझी
ले पतवार
खे रहा उलटी नैया जीवन की
में छटपटा रहा
अपने जीवन के डोर पकडे
जीने का एक सहारा
तेरे पलकों में छुपे
सपनो को पाने की चाह।

मिलना कभी
फिर दिखाऊंगा जख्म तुझे
जो दिए इस ज़माने ने
तुझे चाहने की सजा थी
छुड़ा लूंगा अपने सपनो को
जो कैद है
तेरी नशीली आँखों में
जो दिखती थी
ख्वाब सदा
जिंदगी जीने का। ।

Photo by Marcelo Chagas on Pexels.com

कसमकश


हर पल एक क़सक
तेरे पलकों की छाँव में
जीवन का नवरंग
छुपा दू सतरंगी सपने मेरे
जो देखे थे साथ तेरे।

कसमकश
जिन्दा रहने की
हौसला
लड़ने का ज़माने से
हो रहा दरबदर
वक्त के संग।

मांझी
ले पतवार
खे रहा उलटी नैया जीवन की
में छटपटा रहा
अपने जीवन के डोर पकडे
जीने का एक सहारा
तेरे पलकों में छुपे
सपनो को पाने की चाह।

मिलना कभी
फिर दिखाऊंगा जख्म तुझे
जो दिए इस ज़माने ने
तुझे चाहने की सजा थी
छुड़ा लूंगा अपने सपनो को
जो कैद है
तेरी नशीली आँखों में
जो दिखती थी
ख्वाब सदा
जिंदगी जीने का। ।

Photo by Marcelo Chagas on Pexels.com

श्री ॐ बन्ना जन्म जयंती की हार्दिक बधाई ।


राजस्थान की जन जन की आस्था के केंद्र, युवाओं के प्रेरणा स्त्रोत, देवस्वरूप श्री ॐ बन्ना जी की जन्म जयंती पर आप सभी प्रदेश वासियो को हार्दिक शुभकामनाये। श्री ॐ बन्ना जी आपकी हर मनोकामना पूर्ण करे।
जय श्री ॐ बन्ना

कोरोना : ये जंग है बड़ी, आओ मिल कर लड़े।


कोरोना (Corona) को आये हुए एक साल से ऊपर हो चूका है। अब लगभग सब लोगो को पता हो चला है कि कोरोना क्या होता है। इसके क्या लक्षण होते है ? इस से कैसे बचा जा सकता है आदि । लेकिन इन सब बातो के होते हुए भी एक बार फिर दूसरी लहर (#Second Wave) बहुत भयंकर रूप से सारे भारत (India) को अपनी चपेट में ले रही है।
सबसे महत्व पूर्ण बात ये है कि इस बार कोरोना का प्रकोप गाओं में बढ़ गया है। बहुत ही भयानक तरीके से ये बीमारी लोगो को अपनी चपेट में ले रही है। गांव में अब भी लोग इसे मौसमी बुखार (Viral Fever) समझ कर नजरअंदाज कर रहे है और इस वजह से पूरा का पूरा परिवार इस बीमारी कि चपेट में आ रहा है। ताजा उदहारण छापोली (Chapoli) गॉव का है जहा एक साथ 31 कोरोना पॉजिटिव आने के बाद पुरे गांव को सील (Seal) करना पड़ रहा है ।

What Worst-Affected Indian States Are Doing To Fight Coronavirus Pandemic

कोरोना कि दूसरी लहर कि भयानकता को इस बात से भी मापा जा सकता है कि श्रीमान अशोक गेहलोत (Ashok Gehlot) को भी भावुक अपील करनी पड़ रही है कि अब मेरे नहीं लोगो को हाथो में ही है इस बीमारी का बचाव।
फिर भी लोग नहीं समझ रहे है। बुखार (Fever) होने पर कुछ भी उलटी सीधी दवाई ले कर अपने आप को ठीक करने कि कोशिश में अपनी बहुमूल्य जान गवा रहे है।
आप एक बात को समझिये अगर अपने जाँच करवा ली तो और आप कोरोना पॉजिटिव आ भी गए तो क्या होगा ? आपको डॉक्टर कुछ निश्चित सरकारी दवाइया लिख कर देगा और आप को घर में रहने कि सलाह देगा। अगर आप 14 दिन घर में रह गए तो क्या हो जायेगा वैसे भी लॉक डाउन में कहाँ जायेंगे। और तो और काम से काम अपने घर वालो को खास कर बुजुर्गो को तो बचा पाएंगे जिनकी रोगो से लड़ने कि शक्ति कमजोर होती है।
इसलिए आप सबसे हाथ जोड़कर विनती है कि इस बीमारी से लड़ने में सरकार, प्रशासन और स्वास्थय कर्मियों का सहयोग करे।
यकीन मानिये, आपके सहयोग के बिना इस बीमारी से कोई भी नहीं लड़ सकता।
काम से कम उन भाई बहिनो के बारे में सोचिये जिनकी नौकरी चली गयी है, काम धंधा बंद हो गया है या फिर बंद होने के कगार पर है।

नीचे हम कुछ साधारण से उपाय बता रहे जिनको अपना कर आप अपना और अपने परिवार का इस घातक बीमारी से बचा सकते है।

होम आइसोलेशन के लिए। आपको यदि सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार, साँस लेने में तकलीफ, जोड़ों में दर्द, अत्यधिक थकावट, मांसपेशियों में अकड़न इत्यादि लक्षण आते हैं, निम्नलिखित बातो का पालन शुरु कर दें।
1- खुद को आइसोलेट कर लें।
2- तरल पदार्थ जैसे सूप, जूस, काढ़ा, चाय, काफी, गुनगुना पानी, गर्म दूध आदि कम से कम 4 लीटर लेने का प्रयास करें।
3- पूर्ण रूप से आराम करें और अच्छी नींद लें।
4- अपने आप को फिल्म, शार्ट फिल्म, किताब, गाना, कहानी, कविता, क्रिकेट आदि के माध्यम से व्यस्त रखें। दोस्तों से बातें करें।
5- स्नान भी गुनगुने पानी से ही करें।
6- सुबह शाम भाप की सांस लें और नमक पानी गुनगुना करके गलारा करें।
7- ठन्डे वस्तुओं से परहेज़ करें।
8- पल्स आक्सीमीटर से आक्सीजन नापते रहें 94-92 के नीचे सैचुरेसन आने पर तुरंत हेल्पलाईन पर फोन करें।
9- आक्सीमीटर न मिल पाने के स्थिति में अपने सांस को 14-18 सेकेंड के लिये रोक कर अपने को चेक करें।
10- नकारात्मक बातों और घटनाओ से दूर रहें।मेडिकल स्टोर पर सम्पर्क करके निम्नलिखित दवाओ को शुरु कर दें।1- पैरासिटामोल 650mg सुबह दोपहर रात
2- एज़िथ्रोमाइसिन 500mg रोज़ दिन में एक बार
3- डाक्सी 100 mg सुबह शाम
4- आइवरमेक्टीन 12 mg तीन दिन तक रोज़ एक गोली फिर सप्ताह में एक बार
5- विटामिन सी (Limcee/ Vitcee) 500 mg सुबह शाम चूसना है।
6- विटामिन D3 60K सप्ताह में एक बार
7- मोन्टेमैक-एल या मोन्टेयर एलसी एक सुबह एक शाम
8- एवियान एल सी एक सुबह एक शाम इतना करिये और RTPCR करवाइये.. जब तक 3-4 दिन में रिपोर्ट आएगी हो सकता आपकी तीन चौथाई बीमारी समाप्त हो चुकी होगी.

Ministry Of Railways Shares '5 Sutra To Practice At Work' To Fight  Coronavirus

A WordPress.com Website.

Up ↑